-->

CrPC 466 in Hindi - Defect or error not to make attachment unlawful

Chapter XXXV - CrPC Section 466

CrPC Section 466 in Hindi-
त्रुटि या गलती के कारण कुर्की का अवैध न होना:
इस संहिता के अधीन की गई कोई कुर्की ऐसी किसी त्रुटि के कारण या प्ररूप के अभाव के कारण विधिविरुद्ध न समझी जाएगी जो समन, दोषसिद्धि, कुर्की की रिट या तत्संबंधी अन्य कार्यवाही में हुई है और न उसे करने वाला कोई व्यक्ति अतिचारी समझा जाएगा।



CrPC Section 466 in English-
Defect or error not to make attachment unlawful:
No attachment made under this Code shall be deemed unlawful, nor shall any person making the same be deemed a trespasser, on account of any defect or want of form in the summons, conviction, writ of attachment or other proceedings relating thereto.


Report Disclaimer Applies

कृपया प्रसार करें:

पिछला लेख
अगला लेख

अधिक पढ़ें गए

IPC 354C in Hindi - भारतीय दण्ड संहिता की धारा 354 ग - Voyeurism

भारतीय दण्ड संहिता की धारा 354ग दृश्यरतिकता [1] -- कोई पुरुष, जो प्राइवेट कार्य में संलग्न स्त्री को उन परिस्थितियों में देखेगा या का चित्...

पूरा पढ़ें

IPC 354B in Hindi - भारतीय दण्ड संहिता की धारा 354ख - Assault or use of criminal force to woman with intent to disrobe

भारतीय दण्ड संहिता की धारा 354 ख विवस्त्र करने के आशय से स्त्री पर हमला या आपराधिक बल का प्रयोग [1] -- कोई पुरुष, जो किसी स्त्री को विवस्...

पूरा पढ़ें

IPC 354D in Hindi - भारतीय दण्ड संहिता की धारा 354 घ - Stalking

भारतीय दण्ड संहिता की धारा 354घ पीछा करना [1] -- 1. कोई पुरुष, जो (i) किसी स्त्री का पीछा करेगा या ऐसी स्त्री द्वारा अनिच्छा के स्पष्ट उ...

पूरा पढ़ें

IPC 354A in Hindi - भारतीय दण्ड संहिता की धारा 354 क - Sexual harassment and punishment for sexual harassment

भारतीय दण्ड संहिता की धारा 354क लैंगिक उत्पीड़न और लैंगिक उत्पीड़न के लिए दण्ड [1] -- 1. निम्न कार्यों --- (i) अवांछनीय एवं सुव्यक्त लैंगि...

पूरा पढ़ें

IPC 376B in Hindi - भारतीय दण्ड संहिता की धारा 376ख - Sexual intercourse by husband upon his wife during separation

भारतीय दण्ड संहिता की धारा 376ख पृथक रहने के दौरान पति द्वारा अपनी पत्नी के साथ मैथुन [1] -- जो कोई अपनी पत्नी के साथ, जो चाहे पृथककरण की ...

पूरा पढ़ें