Section 406 IPC in Hindi News - धारा 406 आईपीसी के समाचार

Updated By: Help-Line 406
Section-406 IPC - Criminal Breach of Trust - धारा 406 आईपीसी - आपराधिक न्यासभंग:

यदि किसी व्यक्ति को किसी दूसरे की सम्पति का आंशिक प्रबंधनीय प्रभुत्व मिलता है और वो उस सम्पति का बेईमानी से अपने लिए प्रयोग कर लेता है तो वह आईपीसी की धारा 406 के तहत अपराध करता है। यह धारा संज्ञेय है और गैर-जमानती पर इस धारा के अंतर्गत न्यायलय की आज्ञा के बाद जिससे विश्वासघात हुआ है उससे समझौता हो सकता है। धारा 406 के अपराध और उदाहरण आईपीसी की धारा 405 में बताए गए है। विस्तार पूर्वक अध्यन के लिए कृपया धारा 405 देंखें।
समाज में इस धारा से संबंधित घटने वाले अपराधों के समाचार पढ़ने से आप इसे अच्छे से समझ सकते है। नीचे कुछ समाचार प्रस्तुत किये जा रहें है।

दहेज मामले में तीन एनआरआई के खिलाफ मामला दर्ज

फगवाड़ा (पंजाब), 21 जनवरी 2018 - अमेरिका में रहने वाले एनआरआई विकास कुमार (पति), अजय कुमार (ससुर) और पिंकी (सास) पर स्थानीय महिला ने दहेज उत्पीड़न और धोखाधड़ी का मामला दर्ज कराया था। महिला ने पुलिस को बताया था कि उसकी शादी विकास कुमार से अप्रैल 2015 में हुई थी तब से उसके ससुराल वाले उस पर और दहेज लेन का दबाब बना रहे थे जबकि पहला दहेज हड़प गए थे इस शिकायत के बाद पुलिस ने इन तीनों आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 498ए और 406 के तहत मामला दर्ज कर लिया।

पूर्व महिला सरपंच ने किया 1.15 करोड़ का गबन

नवभारत टाइम | Updated: Dec 28, 2017,
एनबीटी न्यूज, कुरुक्षेत्र: पानीपत के बापौली ब्लॉक के विकास एवं पंचायत अधिकारी की शिकायत पर थाना बापौली पुलिस ने मंगलवार की देर रात गांव भलौर की पूर्व सरपंच सरोज देवी के खिलाफ आईपीसी की धारा 420, 406, 409, 467, 468, 471 के तहत केस दर्ज किया है। सरोज देवी पर गांव की सरपंच रहते हुए विकास कार्यों के लिए आई सरकारी ग्रांट में से 1.15 करोड़ रुपये का गबन करने का आरोप है।
गौरतलब है कि सरोज देवी के सरपंच कार्यकाल में गांव भलौर में विकास कार्यों के लिए प्रदेश सरकार ने करोड़ों रुपये की राशि विकास कार्यों के लिए ग्रांट के रूप में दी थी। वहीं, सरोज देवी ने विकास कार्यों का निर्माण तो शुरू करवाया, लेकिन निर्माण कार्य बीच में ही लटका दिया। इधर, ग्रामीणों ने इस मामले की शिकायत जिला उपायुक्त, जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी व ब्लॉक विकास एवं पंचायत अधिकारी से की।

नौकरी लगाने के नाम पर धोखाधड़ी, मुकदमा दर्ज

विदेश भेजने के नाम पर ठगे 13 लाख, महिला एजेंट पर केस

कॉलेज में दाखिले के नाम पर दस लाख रुपये की ठगी ...

कृपया प्रसार करें:

पिछला लेख
अगला लेख
-

अधिक पढ़ें गए

IPC 324 in Hindi - भारतीय दण्ड संहिता की धारा 324

भारतीय दण्ड संहिता की धारा 324 खतरनाक आयुधों या साधनों द्वारा स्वेच्छया उपहति कारित करना --- उस दशा के सिवाय, जिसके लिए धारा 334 में उपबं...

पूरा पढ़ें

IPC 325 in Hindi - भारतीय दण्ड संहिता की धारा 325

भारतीय दण्ड संहिता की धारा 325 स्वेच्छया घोर उपहति कारित करने के लिए दण्ड -- उस दशा के सिवाय, जिसके लिए धारा 335 में उपबंध है, जो कोई स्वे...

पूरा पढ़ें

IPC 323 in Hindi - भारतीय दण्ड संहिता की धारा 323

भारतीय दण्ड संहिता की धारा 323 स्वेच्छया उपहति कारित करने के लिए दण्ड --- उस दशा के सिवाय, जिसके लिए धारा 334 में उपबंध है, जो कोई स्वेच्छ...

पूरा पढ़ें

IPC 451 in Hindi - भारतीय दण्ड संहिता की धारा 451

भारतीय दण्ड संहिता की धारा 451 कारावास से दंडनीय अपराध को करने के लिए गृह-अतिचार -- जो कोई कारावास से दंडनीय कोई अपराध करने के लिए गॄह-अतिचा...

पूरा पढ़ें

IPC 342 in HIndi - भारतीय दण्ड संहिता की धारा 342

भारतीय दण्ड संहिता की धारा 342 (Dhara 342) सदोष परिरोध के लिए दण्ड ---   जो कोई किसी व्यक्ति का सदोष परिरोध करेगा, वह दोनों में से किसी भांत...

पूरा पढ़ें