IPC 55 in Hindi - भारतीय दण्ड संहिता की धारा 55

Updated By: Help-Line 55

भारतीय दण्ड संहिता की धारा 55

आजीवन कारावास के दण्डादेश का लघुकरण-- हर मामले में, जिसमें आजीवन [कारावास] का दण्डादेश दिया गया हो, अपराधी की सम्मति के बिना भी [समुचित सरकार] उस दण्ड को ऐसी अवधि के लिए, जो चौदह वर्ष से अधिक न हो, दोनों में से किसी भांति के कारावास में लघुकॄत कर सकेगी ।

Indian Penal Code Section 55

Commutation of sentence of imprisonment for life.-- In every case in which sentence of [imprisonment] for life shall have been passed, [the appropriate Government] may, without the consent of the offender, commute the punishment for imprisonment of either description for a term not exceeding fourteen years.

कृपया प्रसार करें:

पिछला लेख
अगला लेख
-

अधिक पढ़ें गए

IPC 324 in Hindi - भारतीय दण्ड संहिता की धारा 324

भारतीय दण्ड संहिता की धारा 324 खतरनाक आयुधों या साधनों द्वारा स्वेच्छया उपहति कारित करना --- उस दशा के सिवाय, जिसके लिए धारा 334 में उपबं...

पूरा पढ़ें

IPC 325 in Hindi - भारतीय दण्ड संहिता की धारा 325

भारतीय दण्ड संहिता की धारा 325 स्वेच्छया घोर उपहति कारित करने के लिए दण्ड -- उस दशा के सिवाय, जिसके लिए धारा 335 में उपबंध है, जो कोई स्वे...

पूरा पढ़ें

IPC 323 in Hindi - भारतीय दण्ड संहिता की धारा 323

भारतीय दण्ड संहिता की धारा 323 स्वेच्छया उपहति कारित करने के लिए दण्ड --- उस दशा के सिवाय, जिसके लिए धारा 334 में उपबंध है, जो कोई स्वेच्छ...

पूरा पढ़ें

IPC 451 in Hindi - भारतीय दण्ड संहिता की धारा 451

भारतीय दण्ड संहिता की धारा 451 कारावास से दंडनीय अपराध को करने के लिए गृह-अतिचार -- जो कोई कारावास से दंडनीय कोई अपराध करने के लिए गॄह-अतिचा...

पूरा पढ़ें

IPC 342 in HIndi - भारतीय दण्ड संहिता की धारा 342

भारतीय दण्ड संहिता की धारा 342 (Dhara 342) सदोष परिरोध के लिए दण्ड ---   जो कोई किसी व्यक्ति का सदोष परिरोध करेगा, वह दोनों में से किसी भांत...

पूरा पढ़ें