IPC 34 in Hindi - What is Section 34 IPC - Acts done by several persons in futherance of common intention

भारतीय दण्ड संहिता की धारा 34

सामान्य आशय को अग्रसर करने में कई व्यक्तियों द्वारा किए गए कार्य-- जबकि कोई आपराधिक कार्य कई व्यक्तियों द्वारा अपने सबके सामान्य आशय को अग्रसर करने में किया जाता है, तब ऐसे व्यक्तियों में से हर व्यक्ति उस कार्य के लिए उसी प्रकार दायित्व के अधीन है, मानो वह कार्य अकेले उसी ने किया हो ।

IPC Section 34

Acts done by several persons in futherance of common intention.-- When a criminal act is done by several persons in furtherance of the common intention of all, each of such persons is liable for that act in the same manner as if it were done by him alone.

Report Disclaimer Applies

कृपया प्रसार करें:

पिछला लेख
अगला लेख