IPC 108A in Hindi - भारतीय दण्ड संहिता की धारा 108क

Updated By: Help-Line 108A

भारतीय दण्ड संहिता की धारा 108क

भारत से बाहर के अपराधों का भारत में दुष्प्रेरण-- वह व्यक्ति इस संहिता के अर्थ के अन्तर्गत अपराध का दुष्प्रेरण करता है, जो [भारत] से बाहर और उससे परे किसी ऐसे कार्य के किए जाने का [भारत] में दुष्प्रेरण करता है जो अपराध होगा, यदि [भारत] में किया जाए ।

दृष्टांत:
[भारत] में को, जो गोवा में विदेशीय है, गोवा में हत्या करने के लिए उकसाता है । हत्या के दुष्प्रेरण का दोषी है ।

Indian Penal Code Section 108A

Abetment in India of offences outside India.-- A person abets an offence within the meaning of this Code who, in [India], abets the commission of any act without and beyond [India] which would constitute an offence if committed in [India].

Illustration:
A,
in [India], instigates B, a foreigner in Goa, to commit a murder in Goa, A is guilty of abetting murder.

कृपया प्रसार करें:

पिछला लेख
अगला लेख
-

अधिक पढ़ें गए

IPC 324 in Hindi - भारतीय दण्ड संहिता की धारा 324

भारतीय दण्ड संहिता की धारा 324 खतरनाक आयुधों या साधनों द्वारा स्वेच्छया उपहति कारित करना --- उस दशा के सिवाय, जिसके लिए धारा 334 में उपबं...

पूरा पढ़ें

IPC 325 in Hindi - भारतीय दण्ड संहिता की धारा 325

भारतीय दण्ड संहिता की धारा 325 स्वेच्छया घोर उपहति कारित करने के लिए दण्ड -- उस दशा के सिवाय, जिसके लिए धारा 335 में उपबंध है, जो कोई स्वे...

पूरा पढ़ें

IPC 323 in Hindi - भारतीय दण्ड संहिता की धारा 323

भारतीय दण्ड संहिता की धारा 323 स्वेच्छया उपहति कारित करने के लिए दण्ड --- उस दशा के सिवाय, जिसके लिए धारा 334 में उपबंध है, जो कोई स्वेच्छ...

पूरा पढ़ें

IPC 451 in Hindi - भारतीय दण्ड संहिता की धारा 451

भारतीय दण्ड संहिता की धारा 451 कारावास से दंडनीय अपराध को करने के लिए गृह-अतिचार -- जो कोई कारावास से दंडनीय कोई अपराध करने के लिए गॄह-अतिचा...

पूरा पढ़ें

IPC 342 in HIndi - भारतीय दण्ड संहिता की धारा 342

भारतीय दण्ड संहिता की धारा 342 (Dhara 342) सदोष परिरोध के लिए दण्ड ---   जो कोई किसी व्यक्ति का सदोष परिरोध करेगा, वह दोनों में से किसी भांत...

पूरा पढ़ें