-->

IPC 322 in Hindi - IPC Section 322 - Voluntarily causing grievous hurt

भारतीय दण्ड संहिता की धारा 322

स्वेच्छया घोर उपहति कारित करना --- जो कोई व्यक्ति स्वेच्छया उपहति कारित करता है, यदि वह उपहति, जिसे कारित करने का उसका आशय है या जिसे वह जानता है कि उसके द्वारा उसका किया जाना संभाव्य है घोर उपहति है, और यदि वह उपहति, जो वह कारित करता है, घोर उपहति को, तो वह "स्वेच्छया घोर उपहति करता है", यह कहा जाता है।
स्पष्टीकरण --- कोई व्यक्ति स्वेच्छया घोर उपहति कारित करता है, यह नहीं कहा जाता है सिवाय जब कि वह घोर उपहति करता है और घोर उपहति कारित करने का उसका आशय हो या घोर उपहति कारित होना वह संभाव्य जानता हो। किन्तु यदि वह यह आशय रखते हुए या यह संभाव्य जानते हुए कि वह किसी एक किस्म की घोर उपहति कारित कर दे वास्तव में दूसरी ही किस्म की घोर उपहति कारित करता है, तो वह स्वेच्छया घोर उपहति करता है, यह कहा जाता है।
दृष्टांत :
क, यह आशय रखते हुए या यह संभाव्य जानते हुए कि वह के चेहरे को स्थाई रूप से विद्रुपीत कर दे, के चेहरे पर प्रहार करता है जिससे का चेहरा स्थायी रूप से विद्रुपीत तो नहीं होता, किन्तु जिससे को बीस दिन तक तीव्र शारीरिक पीड़ा कारित होती है। ने स्वेच्छया घोर उपहति कारित की है।

IPC Section 322 -

Voluntarily causing grievous hurt.-- Whoever voluntarily causes hurt, if the hurt which he intends to cause or knows himself to be likely to cause is grievous hurt, and if the hurt which he causes is grievous hurt, is said "voluntarily to cause grievous hurt".
Explanation.- A person is not said voluntarily to cause grievous hurt except when he both causes grievous hurt and intends or knows himself to be likely to cause grievous hurt. But he is said voluntarily to cause grievous hurt, if intending or knowing himself to be likely to cause grievous hurt of one kind, he actually causes grievous hurt of another kind.
Illustration
A, intending of knowing himself to be likely permanently to disfigure Z's face, gives Z a blow which does not permanently disfigure Z's face, but which causes Z to suffer severe bodily pain for the space of twenty days. A has voluntarily caused grievous hurt.

Report Disclaimer Applies

कृपया प्रसार करें:

पिछला लेख
अगला लेख

अधिक पढ़ें गए

IPC 354C in Hindi - भारतीय दण्ड संहिता की धारा 354 ग - Voyeurism

भारतीय दण्ड संहिता की धारा 354ग दृश्यरतिकता [1] -- कोई पुरुष, जो प्राइवेट कार्य में संलग्न स्त्री को उन परिस्थितियों में देखेगा या का चित्...

पूरा पढ़ें

IPC 354B in Hindi - भारतीय दण्ड संहिता की धारा 354ख - Assault or use of criminal force to woman with intent to disrobe

भारतीय दण्ड संहिता की धारा 354 ख विवस्त्र करने के आशय से स्त्री पर हमला या आपराधिक बल का प्रयोग [1] -- कोई पुरुष, जो किसी स्त्री को विवस्...

पूरा पढ़ें

IPC 354A in Hindi - भारतीय दण्ड संहिता की धारा 354 क - Sexual harassment and punishment for sexual harassment

भारतीय दण्ड संहिता की धारा 354क लैंगिक उत्पीड़न और लैंगिक उत्पीड़न के लिए दण्ड [1] -- 1. निम्न कार्यों --- (i) अवांछनीय एवं सुव्यक्त लैंगि...

पूरा पढ़ें

IPC 354D in Hindi - भारतीय दण्ड संहिता की धारा 354 घ - Stalking

भारतीय दण्ड संहिता की धारा 354घ पीछा करना [1] -- 1. कोई पुरुष, जो (i) किसी स्त्री का पीछा करेगा या ऐसी स्त्री द्वारा अनिच्छा के स्पष्ट उ...

पूरा पढ़ें

IPC 376B in Hindi - भारतीय दण्ड संहिता की धारा 376ख - Sexual intercourse by husband upon his wife during separation

भारतीय दण्ड संहिता की धारा 376ख पृथक रहने के दौरान पति द्वारा अपनी पत्नी के साथ मैथुन [1] -- जो कोई अपनी पत्नी के साथ, जो चाहे पृथककरण की ...

पूरा पढ़ें