Vitamin B1 ( THIAMINE ) - विटामिन बी 1

Updated By: Help-Line health
विटामिन बी 1 :
विटामिन बी1 को थीयामाइन (Thiamine) या थीयामिन (Thiamin) भी कहा जाता है, यह विटामिन बी श्रेणी के आठ विटामिनों में से एक है। थीयामिन वो पहला यौगिक पदार्थ हैं जिसकी पहचान पहले विटामिन के रुप में हुई थी। सभी बी श्रेणी के विटामिन पानी में घुलनशील होते हैं, ओर जिसका अर्थ है कि, शरीर उन्हें अधिक समय के लिए संग्रहित करके नहीं रख सकता हैं।
विटामिन बी 1 कई प्रकार के खाद्य पदार्थो जैसेकि  अनाज, धान, फलियों, मेवों, मांस इत्यादि में पाया जाता है।
कई लोग विटामिन बी 1 का प्रयोग  थियामाइन के निम्न स्तर  ( थियामाइन डेफिशेंसी सिंड्रोम )  व  बेरी-बेरी और गर्भावस्था से सम्बंधित तंत्रिकाओं की सूजन (न्युरैटिस ) के  उपचार  के लिए करते हैं।  थियामिन  (Thiamine) अल्सरेटिव कोलाइटिस, डायरिया और अपर्याप्त भूख लगना जैसी पाचन समस्याओं  के उपचार और एड्स व प्रतिरक्षा प्रणाली को सुदृढ़ करने के लिए, ह्रदय रोग,  दिमाग की क्षति  (Cerebellar Syndrome) के उपचार के लिए भी प्रयोग किया जाता हैं।





कृपया प्रसार करें:

पिछला लेख
अगला लेख
-

अधिक पढ़ें गए

IPC 324 in Hindi - भारतीय दण्ड संहिता की धारा 324

भारतीय दण्ड संहिता की धारा 324 खतरनाक आयुधों या साधनों द्वारा स्वेच्छया उपहति कारित करना --- उस दशा के सिवाय, जिसके लिए धारा 334 में उपबं...

पूरा पढ़ें

IPC 325 in Hindi - भारतीय दण्ड संहिता की धारा 325

भारतीय दण्ड संहिता की धारा 325 स्वेच्छया घोर उपहति कारित करने के लिए दण्ड -- उस दशा के सिवाय, जिसके लिए धारा 335 में उपबंध है, जो कोई स्वे...

पूरा पढ़ें

IPC 323 in Hindi - भारतीय दण्ड संहिता की धारा 323

भारतीय दण्ड संहिता की धारा 323 स्वेच्छया उपहति कारित करने के लिए दण्ड --- उस दशा के सिवाय, जिसके लिए धारा 334 में उपबंध है, जो कोई स्वेच्छ...

पूरा पढ़ें

IPC 451 in Hindi - भारतीय दण्ड संहिता की धारा 451

भारतीय दण्ड संहिता की धारा 451 कारावास से दंडनीय अपराध को करने के लिए गृह-अतिचार -- जो कोई कारावास से दंडनीय कोई अपराध करने के लिए गॄह-अतिचा...

पूरा पढ़ें

IPC 342 in HIndi - भारतीय दण्ड संहिता की धारा 342

भारतीय दण्ड संहिता की धारा 342 सदोष परिरोध के लिए दण्ड ---   जो कोई किसी व्यक्ति का सदोष परिरोध करेगा, वह दोनों में से किसी भांति के कारावास...

पूरा पढ़ें