Section 308 IPC in Hindi News - धारा 308 आईपीसी के समाचार

कोई भी ऐसा कार्य या प्रयास जिससे गैर-इरादतन हत्या जैसा अपराध हो सकता है चाहे वो किसी उत्सव में गोली चलना हो, किसी पर बंदूक तानना हो, मार-पिट जैसे कई परिस्थितियों में धारा 308 का प्रयोग होता है। साधारण रूप से समझा जाए तो यदि कोई बिना किसी हत्या के उदेश्य के ऐसा कार्य करने का प्रयास करता है जिससे गैर-इरादतन हत्या होना सम्भव हो तो मामला धारा 308 के तहत दर्ज हो सकता है। यह धारा संज्ञेय है और गैर-जमानती।
धारा 308 से जुड़े कुछ समाचार नीचे दिए गए है।

आरक्षक के कमलनाथ पर बंदूक तानने का मामला, कांग्रेस ने की एसआईटी जांच की मांग

भाषा | Updated: Dec 19, 2017, 09:35PM IST
भोपाल, 19 दिसंबर भाषा पूर्व केंद्रीय मंत्री और छिंदवाड़ा लोकसभा क्षेत्र के कांग्रेस सांसद कमलनाथ पर चार दिन पहले छिन्दवाडा हवाई पट्टी पर तैनात एक पुलिस आरक्षक द्वारा बंदूक तानने के मामले में कांग्रेस ने मध्यप्रदेश सरकार से विशेष जांच दल एसआईटी गठित कर जांच करने की मांग की है।..
इसी बीच, छिन्दवाड़ा पुलिस उपमहानिरीक्षक जी के पाठक ने कहा, कमलनाथ पर बंदूक तानने वाले आरक्षक के घर से आरएसएस का कोई साहित्य नहीं मिला है। हम इस मामले की जांच कर रहे हैं। यह निर्णय लेना राज्य सरकार पर है कि वह एसआईटी जांच करवाती है या नहीं।
पाठक ने बताया, पंवार का मानसिक रोगी होने के कागजात उसके घर पर मिले हैं।
उन्होंने कहा, आरोपी आरक्षक के खिलाफ भादंवि की धारा 308 के तहत मामला दर्ज किया गया है।

बोरी में बांधकर बच्ची को पीटने वाली सौंतेली की जमानत याचिका खारिज

दैनिक जागरण-20-Dec-2017
जागरण संवाददाता, चंडीगढ़ : पांच साल की बच्ची को बोरी में बांधकर पिटाई करने की आरोपी सौंतेली मां की जमानत याचिका बुधवार को कोर्ट ने खारिज कर दी। जज ने कहा कि आरोप काफी गंभीर है। लिहाजा जमानत नहीं दी जा सकती है। सौंतेली मां के खिलाफ पुलिस ने सेक्शन 75 जस्टिस जुवेनाइल एक्ट, धारा 323 व 308 के तहत केस दर्ज किया है।

मध्यप्रदेश: आधा दर्जन युवकों ने एक के बाद एक 50 से अधिक बार की फायरिंग, पुलिस की कार्रवाई पर उठे सवाल

NDTV INDIA - Updated: 20 दिसम्बर, 2017 3:47 PM
भिंड: मध्यप्रदेश में फायरिंग की अजीब घटना सामने आई है. इस घटना में किसी को नुकसान की कोई खबर नहीं है. लेकिन इस घटना के बाद पुलिस की कार्रवाई पर सवाल उठाए जा रहे हैं. दरअसल, मध्यप्रदेश के भिंड में करीब 6 युवकों ने एक के बाद एक 50 से अधिक फायरिंग की. इस घटना का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा रहा है. वीडियो में ये युवक फायरिंग करते नजर आ रहे हैं। पुलिस पर इसलिए सवाल उठाए जा रहे हैं, क्योंकि फायरिंग कर दूसरों की जिंदगी को खतरे में डालने वाले आधा दर्जन युवकों के खिलाफ धारा 308 के तहत अब तक कार्रवाई नहीं की गई है.
इन समाचारों को कुछ प्रतिष्ठित समाचार वेबसाइट द्वारा प्रस्तुत किए गए समाचारों में से पूर्णरूप में या आंशिक रूप से उदाहरण स्वरूप लिया गया है हम इसके लिए दैनिक जागरण, NDTV INDIA और भाषा का आभार प्रकट करते है।
बलात्कार एक घृणित अपराध
विनम्र ' अनुरोध: भविष्य में जारी होने वाली नोटिफिकेशन को अपने ईमेल पर पाने के लिए अपने ईमेल को सब्सक्राइब करें।

Popular Posts