IPC 379 in Hindi - News - आईपीसी की धारा 379 - समाचार

यदि कोई भी किसी के कब्जे की चल-सम्पत्ति को बेईमानी के भाव के साथ, उसकी आज्ञा के बिना उठाता, हिलाता, हटाता, चलाता, खिसकाता है या उसका स्थान परिवर्तन करता है तो ऐसा माना जाएगा कि वो चोरी करता है। "चोरी" के अपराध को आईपीसी की धारा 378 में परिभाषित किया गया है। चोरी की परिभाषा के साथ-साथ कुछ उदारण भी दिए गए है जिनमे से कुछ सरल रूप से प्रस्तुत कर रहें है।
1. क के घर पर एक वृक्ष लगा है, जोकि उसके अधिकार क्षेत्र में आता है। उस पेड़ को बेईमानी से लेने के उद्देश्य से, की सम्मति के बिना उस वृक्ष को काट डालता है। जैसे ही ने उस वृक्ष को काट कर जड़ से अलग किया, यहीं पर इसे चोरी कहा जाएगा।
2. क के पास कुत्ता है, उस कुत्ते को बेईमानी से लेने के उदेश्य से की सम्मति के बिना, के कुत्ते को किसी ललचाने वाली वस्तु से अपने पीछे आने के लिए उत्प्रेरित करता है, जैसे ही कुत्ते ने के पीछे चलना प्रारम्भ किया, ऐसे ही ने चोरी की, ऐसा माना जाएगा।
3. , जो का ड्राइवर है जिसे ने अपनी कार चलाने व् रखरखाव के लिए दी है, की सम्मति के बिना बेईमानी के उद्देश्य के साथ कार ले कर भाग जाता है। तो यहाँ ने चोरी की है।
यहां उदहारण को सरल बनाने के लिए दो चरित्रों को और के नाम से दर्शाया गया है।
उपर दिए गए उधारणों से स्पष्ट है की जैसे ही कोई बेईमानी के उद्देश्य से किसी की चल-संपत्ति को उठाता, हिलाता, हटाता, चलाता, खिसकाता है या उसका स्थान परिवर्तन करता है वैसे ही यह अपराध चोरी की परिभाषा में आ जाता है।
यह अपराध संज्ञेय है, इसलिए पुलिस को शिकायत मिलने पर पुलिस इसका संज्ञान तुरंत ले सकती है और गैर-जमानती होने के कारण आरोपी को जमानत कोर्ट से ही मिलेगी। आरोपी पर आरोप सिद्ध होने पर उसको तीन वर्ष तक की कारावास और जुर्माने का दंड भुगतना पड़ सकता है। यह अपराध समझौतावादी है, अथार्त आरोपी और शिकायतकर्ती सम्पत्ति का मालिक अगर चाहे तो आपस में समझौता कर सकते है।
इस धारा से संबंधित कुछ संक्षिप्त समाचार नीचे दिए गए है जिनको पढ़ने के बाद आप इस धारा की प्रकृति को भली प्रकार से समझ पाएंगे। ( अपराध और उस पर लगने वाली धारा को लाल रंग में दर्शाया गया है। )
हमारा उद्देश्य चोरी के मामलों से संबंधित समाचरों को प्रस्तुत कर उन घटनाओं को बताना है, जिनमे आईपीसी की धारा 379 का प्रयोग होता है। इन समाचरों को हमने कुछ प्रतिष्ठित समाचार वेबसाइटों से लिया है जिनका हम तह दिल से आभार प्रकट करते है।
धारा 379 से जुड़े समाचार:
विद्युत ऊर्जा चोरी मामले में दो नामजद
Jagran.com, :Tue, 13 Mar 2018 06:44 PM (IST)
लखीसराय। माणिकपुर ओपी क्षेत्र के गरीबनगर में सोमवार को दो अलग-अलग घरों में की गई छापेमारी में एलटी लाइन से तार जोड़कर विद्युत ऊर्जा की चोरी करके विभाग को 10 हजार 536 रुपये राजस्व की क्षति पहुंचाने का मामला प्रकाश में आया है। इस संबंध में विद्युत आपूर्ति अवर प्रमंडल के सहायक अभियंता राहुल कुमार ने सूर्यगढ़ा (माणिकपुर) थाना में कांड संख्या- 35/18 धारा 379 भादवि एवं 135 विद्युत अधिनियम के तहत गरीबनगर निवासी के विरुद्ध कांड अंकित कराया है। सोर्स:- दैनिक जागरण

8 साल बाद दबोचा उद्घोषित अपराधी
Punjab Kesari - Himachal Pradesh: Monday, March 12, 2018-6:35 PM
बिलासपुर : बिलासपुर पुलिस की पी.ओ. सैल टीम ने कोर्ट द्वारा पशु चोरी के मामले में 2 बार भगौड़ा घोषित किए एक अपराधी नेक मोहम्मद पुत्र वीर मोहम्मद निवासी पंडोगा जिला ऊना को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। इस दौरान टीम उसे बिलासपुर ले आई है।
क्या था मामला:
जानकारी के अनुसार झंडूता उपमंडल के भगतपुर गांव निवासी सीता राम ने कई पशु पाल रखे थे, जिनमें 5 साल की उम्र का करीब 6 फुट 6 इंच लंबा बेहतरीन नसल वाला भैंसा भी था। सीता राम के अनुसार उसने इस भैंंसे को भैंसों की नसल संवद्र्धन हेतु 25,000 रुपए में खरीदा था। 27 अप्रैल, 2010 को रात्रि अढ़ाई बजे यह भैंसा अन्य पशुओं के साथ खुरल के साथ बंधा था लेकिन सुबह साढ़े 4 बजे जब सीता राम पशुओं को चारा-पानी डालने गया तो उसने अपने इस भैंसे को वहां से गायब पाया जिसके बाद 28 अप्रैल, 2010 को सीता ने भैंसे के चोरी हो जाने की शिकायत तलाई पुलिस थाना में दर्ज करवा दी। भारतीय दंड संहिता की धारा 379 के तहत दर्ज हुए इस मामले में पुलिस ने तफ्तीश के बाद नेक मोहम्मद को आरोपी बनाकर गिरफ्तार किया। सोर्स:-पंजाब केसरी
अवैध रूप से खैर के पेड़ काटे, चार लोग पकड़े गए
वन अधिकारी श्री सुनील कुंडू 30 सितम्बर 2017 को जब अपने क्षेत्र में गश्त में थे तो उन्होंने 20 पेड़ अवैध रूप से काटे हुए पाए तो उन्होंने इसकी शिकायत पिंजौर पुलिस को की। इस शिकायत के आधार पर पुलिस ने गांव आसरेवाली के रहने वाले चार लोगो को हिरासत में ले कर उन पर आईपीसी की धारा 379 के तहत मामला दर्ज कर आगे की कार्रवाई शुरू कर दी।
घर के बाहर खड़ा मोटरसाइकिल चोरी
जलालाबाद से 29 सितंबर 2017 को सायं 7.30 बजे घर के बाहर खड़ा मोटरसाइकिल कोई अज्ञात व्यक्ति चोरी करके ले गया। पुलिस ने इस संबंध में अज्ञात व्यक्ति पर धारा 379 के अधीन पर्चा दर्ज कर लिया है।
ऊपर दिए गए समाचारों के अलावा अवैध रूप से खनन करने वाला माफिया, कंटेंट, डाटा चोरी के आरोप लगने पर भी आईपीसी की धारा 379 लगाई जाती है।
बलात्कार एक घृणित अपराध
विनम्र ' अनुरोध: भविष्य में जारी होने वाली नोटिफिकेशन को अपने ईमेल पर पाने के लिए अपने ईमेल को सब्सक्राइब करें।

Popular Posts