सेवायोजन विभाग, उत्तर प्रदेश - EMPLOYMENT DEPARTMENT, UTTAR PRADESH

सेवायोजन विभाग, उत्तर प्रदेश का मुख्य उद्देश्य अधिक से अधिक बेरोजगारों को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराना हैं और इसलिए प्रशिक्षण एवं सेवायोजन विभाग के अधीन संचालित सेवायोजन कार्यालयों में नियोजकों द्वारा अधिसूचित रिक्तियों के बारे में पंजीकृत बेरोजगार अभ्यर्थियों का सम्प्रेषण कर उनको रोजगार के अवसर उपलब्ध कराए जाते हैं। सेवायोजन विभाग निजी क्षेत्र के नियोजकों को रोजगार मेलों के आयोजन के लिए भी आमंत्रित करते है और साथ में बेरोजगार अभ्यर्थियों को करियर काउंसलिंग के माध्यम से रोजगार के अवसरों की जानकारी भी दी जाती है।

अभी 90 सेवायोजन कार्यालय उत्तर प्रदेश में सेवायोजन सेवा के अन्तर्गत कार्यरत हैं। जिनमें 18 क्षेत्रीय, 01 व्यावसायिक एवं प्रबन्धकीय, 57 जिला, 01 नगर सेवायोजन कार्यालय तथा 13 विश्वविद्यालय सेवायोजन सूचना एवं मंत्रणा केन्द्र सम्मिलित हैं। विभिन्न जनपदों में 52 शिक्षण एवं मार्ग दर्शन केन्द्रों का अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अन्य पिछडे वर्ग तथा विकलांग वर्ग के अभ्यार्थियों की सेवायोजकता में वृद्धि करने के उद्देश्य से संचालन किया जा रहा है।
आवश्यक लिंक:
बलात्कार एक घृणित अपराध
विनम्र ' अनुरोध: भविष्य में जारी होने वाली नोटिफिकेशन को अपने ईमेल पर पाने के लिए अपने ईमेल को सब्सक्राइब करें।

Popular Posts