CrPC 193 in Hindi - दण्ड प्रक्रिया संहिता धारा - 193

अध्याय 14- दण्ड प्रक्रिया संहिता धारा - 193 - अपराधों का सेशन न्यायालयों द्वारा संज्ञान --

इस संहिंता द्वारा या तत्समय प्रवृत किसी अन्य विधि द्वारा अभिव्यक्त रूप से जैसा उपबंधित है उसके सिवाय, कोई सेशन न्यायालय आरम्भिक अधिकारिता वाले न्यायालय के रूप में किसी अपराध का संज्ञान तब तक नहीं करेगा जब तक मामला इस संहिंता के अधीन मजिस्ट्रेट द्वारा उसके सुपुर्द नहीं कर दिया गया है।
__________

Chapter XIV - CrPC Section 193 - Cognizance of offences by Courts of Session.

Except as otherwise expressly provided by this Code or by any other law for the time being in force, no Court of Session shall take cognizance of any offence as a Court of original jurisdiction unless the case has been committed to it by a Magistrate under this Code.
____________
बलात्कार एक घृणित अपराध
विनम्र ' अनुरोध: भविष्य में जारी होने वाली नोटिफिकेशन को अपने ईमेल पर पाने के लिए अपने ईमेल को सब्सक्राइब करें।

Popular Posts