IPC 108A in Hindi - भारतीय दण्ड संहिता की धारा 108क

भारतीय दण्ड संहिता की धारा 108क

भारत से बाहर के अपराधों का भारत में दुष्प्रेरण-- वह व्यक्ति इस संहिता के अर्थ के अन्तर्गत अपराध का दुष्प्रेरण करता है, जो [भारत] से बाहर और उससे परे किसी ऐसे कार्य के किए जाने का [भारत] में दुष्प्रेरण करता है जो अपराध होगा, यदि [भारत] में किया जाए ।

दृष्टांत:
[भारत] में को, जो गोवा में विदेशीय है, गोवा में हत्या करने के लिए उकसाता है । हत्या के दुष्प्रेरण का दोषी है ।

Indian Penal Code Section 108A

Abetment in India of offences outside India.-- A person abets an offence within the meaning of this Code who, in [India], abets the commission of any act without and beyond [India] which would constitute an offence if committed in [India].

Illustration:
A,
in [India], instigates B, a foreigner in Goa, to commit a murder in Goa, A is guilty of abetting murder.
बलात्कार एक घृणित अपराध
विनम्र ' अनुरोध: भविष्य में जारी होने वाली नोटिफिकेशन को अपने ईमेल पर पाने के लिए अपने ईमेल को सब्सक्राइब करें।

Popular Posts