Indian Penal Code Section 321 - भारतीय दण्ड संहिता की धारा 321 - Hindi - Voluntarily causing hurt

भारतीय दण्ड संहिता की धारा 321

स्वेच्छया उपहति कारित करना -- जो कोई किसी कार्य को इस आशय से करता है कि तदद्वारा किसी व्यक्ति को उपहति कारित करे या इस ज्ञान के साथ करता है की यह सम्भाव्य है की वह तदद्वारा किसी व्यक्ति को उपहति कारित करे और तदद्वारा किसी व्यक्ति को उपहति कारित करता है, वह "स्वेच्छया उपहति करता है", यह कहा जाता है।

Indian Penal Code Section 321

Voluntarily causing hurt.-- Whoever does any act with the intention of thereby causing hurt to any person, or with the knowledge that he is likely thereby to cause hurt to any person, and does thereby cause hurt to any person, is said "voluntarily to cause hurt".


Get All The Latest Updates Delivered Straight Into Your Inbox For Free!

Powered by FeedBurner

Popular Posts