IPC 303 in Hindi - भारतीय दण्ड संहिता की धारा 303

भारतीय दण्ड संहिता की धारा 303

आजीवन सिद्धदोष द्वारा हत्या के लिए दण्ड -- जो कोई [आजीवन कारावास] के दण्डादेश के अधीन होते हुए हत्या करेगा, वह मृत्यु से दण्डित किया जाएगा।
PUNISHMENT & CLASSIFICATION OF OFFENCE
आजीवन सिद्धदोष द्वारा हत्या के लिए दण्डमृत्यु-दण्डसंज्ञेय या काग्निज़बलगैर-जमानती
विचारणीय : सेशन कोर्ट द्वारा यह अपराध कंपाउंडबल अपराधों की सूचि में सूचीबद्ध नहीं है

Indian Penal Code Section 303

Punishment for murder by life-convict.-- Whoever, being under sentence of [imprisonment for life], commits murder, shall be punished with death.
PUNISHMENT & CLASSIFICATION OF OFFENCE
Punishment for murder by life-convict.Death Penalty CognizableNon-Bailable
Triable By: Court of Session Offence is NOT listed under Compoundable Offences
अगर कोई किसी अपराध के लिए आजीवन कारावास के दंड से दण्डित होने के बाद कोई हत्या का अपराध करता है, तो उसे हत्या का अपराध सिद्ध होने पर मृत्यु-दण्ड से दण्डित किया जाएगा। यह धारा गैर-जमानती है और इसका पुलिस तुरंत संज्ञान ले कर दोषी को गिरफ्तार कर सकती है।
यह एक गंभीर अपराध है।
ध्यान दें: यहाँ पर ऊपर दिया गया उदाहरण केवल भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं और किए गए अपराधों के तालमेल को समझने के लिए दिया गया है और इसी लिए उदाहरण को चर्चित समाचार के माध्यम से बताने की चेष्ठा की गई है। साक्ष्य के रूप में उन समाचारों के लिंक को उपर प्रस्तुत किया गया है जो उदाहरण के लिए प्रयोग किए गए है। अतः यह उदाहरण मन गढ़ंत नहीं है।
बलात्कार एक घृणित अपराध
विनम्र ' अनुरोध: भविष्य में जारी होने वाली नोटिफिकेशन को अपने ईमेल पर पाने के लिए अपने ईमेल को सब्सक्राइब करें।

Popular Posts