Indo-Tibetan Border Police Force Recruitment Free Job Alert

Indo-Tibetan Border Police Force Recruitment Free Job Alert

Indo-Tibetan Border Police Force Recruitment For The Post of Head Constable(Motor Mechanic) & Constable (Motor Mechanic)
भारत-तिब्बत सीमा पुलिस बल में हेड-कांस्टेबल और कांस्टेबल के पदों की भर्तियां।
इंडो-तिब्बतन बॉर्डर पुलिस फाॅर्स (भारत सरकार के गृह-मंत्रालय के अधीन) ने हेड-कांस्टेबल और कांस्टेबल के कुल 241 रिक्त पदों की भर्तियों के लिए अधिसूचना जारी की है। इन भर्तियों के लिए आवेदन उपयुक्त 18 से 25 वर्ष आयु * के भारतीय पुरुष नागरिकों से स्वीकार किये जाएगें। यह भर्तियां जोकि अस्थायी आधार पर होंगीं पर जो बाद में इंडो-तिब्बतन सीमा पुलिस बल में स्थाई हो जाएगीं। चुने हुए अभ्यर्थी को भारत और विदेश में कहीं भी नियुक्त किया जा सकता है। इन भर्तियों के लिए आवेदन ऑनलाइन 07 फरवरी 2018 तक किया जा सकता है।
वेतनमान; हेड-कांस्टेबल के पद के लिए 25500-81100 और कांस्टेबल के पद के लिए 21700-69100 सातवीं पेय कमीशन के अनुसार दये होगी।
रिक्त पदों का वर्गीकरण * :
हेड-कांस्टेबल-Head Constable (MM) UR-23, SC-12, ST-3, OBC-22 AND TOTAL POST 60.
कांस्टेबल-Constable (MM) UR-85, SC-31, ST-17, OBC-48 AND TOTAL POST 181.
शैक्षणिक योग्यता:
हेड-कॉन्स्टेबल (MM) 10+2 पास और आईटीआई या समकक्ष
कॉस्टेबल (MM) दसवीं पास आईटीआई या समकक्ष
* = आयु सीमा में और रिक्त पदों में छूट के लिए विस्तृत जानकारी पढ़ें।
विस्तृत जानकारी


ऑनलाइन आवेदन के लिए

Uttar Pradesh Police Recruitment Free Job Alert

Uttar Pradesh Police Recruitment Free Job Alert

उत्तर प्रदेश सरकार के अधीन उत्तर प्रदेश पुलिस भर्ती एवं प्रोन्नति बोर्ड ने 14 जनवरी 2018 को आरक्षी नागरिक पुलिस एवं आरक्षी प्रादेशिक आर्म्ड कांस्टेबुलरी के 41520 पदों की सीधी भर्ती के लिए अधिसूचना जारी की है। इन पदों की भर्ती के लिए अभ्यर्थी को भारत में विधि द्वारा स्थापित किसी बोर्ड द्वारा बारहवीं कक्षा उत्तीर्ण या सरकार द्वारा प्राप्त उसके समकक्ष परीक्षा में उत्तीर्ण होना आवश्यक है। रिक्त पदों का विवरण नीचे दिया गया है।
क - आरक्षी नागरिक पुलिस
Sl Noश्रेणींपदों की संख्या
1अनारक्षित11761
2अन्य पिछड़ा वर्ग6350
3अनुसूचित जाति4939
4अनुसूचित जनजाति470
योग23520
ख - आरक्षी प्रादेशिक आर्म्ड कांस्टेबुलरी
Sl Noश्रेणींपदों की संख्या
1अनारक्षित9000
2अन्य पिछड़ा वर्ग4860
3अनुसूचित जाति3780
4अनुसूचित जनजाति360
योग18000
आयु सीमा - पुरुष अभ्यर्थी की आयु दिनांक 01-07-2018 को 18 वर्ष और 22 वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए। महिला अभ्यर्थी की आयु दिनांक 01-07-2018 को 18 वर्ष और 25 वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए। अनुसूचित जातियों, अनुसूचित जनजातियों और ऐसी अन्य श्रेणियों के अभ्यर्थियों के लिए अधिनियम और सरकारी आदेशों के अनुसार छूट के अनुसार आयु सीमा मान्य होगी।
आवेदन शुल्क - सभी भर्तियों की प्रक्रिया के लिए आवेदन शुल्क रुपए 400/- (रुपए चार सौ मात्र ) निर्धारित किया गया है जिसे ऑनलाइन, ऑफलाइन ई-चालान द्वारा दिया जा सकता है।
विस्तृत जानकारी

ऑनलाइन आवेदन के लिए 22-01-2018 को सक्रिय होगा।

Section 308 IPC in Hindi News - धारा 308 आईपीसी के समाचार

Section 308 IPC in Hindi News - धारा 308 आईपीसी के समाचार

कोई भी ऐसा कार्य या प्रयास जिससे गैर-इरादतन हत्या जैसा अपराध हो सकता है चाहे वो किसी उत्सव में गोली चलना हो, किसी पर बंदूक तानना हो, मार-पिट जैसे कई परिस्थितियों में धारा 308 का प्रयोग होता है। साधारण रूप से समझा जाए तो यदि कोई बिना किसी हत्या के उदेश्य के ऐसा कार्य करने का प्रयास करता है जिससे गैर-इरादतन हत्या होना सम्भव हो तो मामला धारा 308 के तहत दर्ज हो सकता है। यह धारा संज्ञेय है और गैर-जमानती।
धारा 308 से जुड़े कुछ समाचार नीचे दिए गए है।

आरक्षक के कमलनाथ पर बंदूक तानने का मामला, कांग्रेस ने की एसआईटी जांच की मांग

भाषा | Updated: Dec 19, 2017, 09:35PM IST
भोपाल, 19 दिसंबर भाषा पूर्व केंद्रीय मंत्री और छिंदवाड़ा लोकसभा क्षेत्र के कांग्रेस सांसद कमलनाथ पर चार दिन पहले छिन्दवाडा हवाई पट्टी पर तैनात एक पुलिस आरक्षक द्वारा बंदूक तानने के मामले में कांग्रेस ने मध्यप्रदेश सरकार से विशेष जांच दल एसआईटी गठित कर जांच करने की मांग की है।..
इसी बीच, छिन्दवाड़ा पुलिस उपमहानिरीक्षक जी के पाठक ने कहा, कमलनाथ पर बंदूक तानने वाले आरक्षक के घर से आरएसएस का कोई साहित्य नहीं मिला है। हम इस मामले की जांच कर रहे हैं। यह निर्णय लेना राज्य सरकार पर है कि वह एसआईटी जांच करवाती है या नहीं।
पाठक ने बताया, पंवार का मानसिक रोगी होने के कागजात उसके घर पर मिले हैं।
उन्होंने कहा, आरोपी आरक्षक के खिलाफ भादंवि की धारा 308 के तहत मामला दर्ज किया गया है।

बोरी में बांधकर बच्ची को पीटने वाली सौंतेली की जमानत याचिका खारिज

दैनिक जागरण-20-Dec-2017
जागरण संवाददाता, चंडीगढ़ : पांच साल की बच्ची को बोरी में बांधकर पिटाई करने की आरोपी सौंतेली मां की जमानत याचिका बुधवार को कोर्ट ने खारिज कर दी। जज ने कहा कि आरोप काफी गंभीर है। लिहाजा जमानत नहीं दी जा सकती है। सौंतेली मां के खिलाफ पुलिस ने सेक्शन 75 जस्टिस जुवेनाइल एक्ट, धारा 323 व 308 के तहत केस दर्ज किया है।

मध्यप्रदेश: आधा दर्जन युवकों ने एक के बाद एक 50 से अधिक बार की फायरिंग, पुलिस की कार्रवाई पर उठे सवाल

NDTV INDIA - Updated: 20 दिसम्बर, 2017 3:47 PM
भिंड: मध्यप्रदेश में फायरिंग की अजीब घटना सामने आई है. इस घटना में किसी को नुकसान की कोई खबर नहीं है. लेकिन इस घटना के बाद पुलिस की कार्रवाई पर सवाल उठाए जा रहे हैं. दरअसल, मध्यप्रदेश के भिंड में करीब 6 युवकों ने एक के बाद एक 50 से अधिक फायरिंग की. इस घटना का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा रहा है. वीडियो में ये युवक फायरिंग करते नजर आ रहे हैं। पुलिस पर इसलिए सवाल उठाए जा रहे हैं, क्योंकि फायरिंग कर दूसरों की जिंदगी को खतरे में डालने वाले आधा दर्जन युवकों के खिलाफ धारा 308 के तहत अब तक कार्रवाई नहीं की गई है.
इन समाचारों को कुछ प्रतिष्ठित समाचार वेबसाइट द्वारा प्रस्तुत किए गए समाचारों में से पूर्णरूप में या आंशिक रूप से उदाहरण स्वरूप लिया गया है हम इसके लिए दैनिक जागरण, NDTV INDIA और भाषा का आभार प्रकट करते है।

Section 342 IPC in Hindi News - धारा 342 आईपीसी के समाचार

Section 342 IPC in Hindi News - धारा 342 आईपीसी के समाचार

जब किसी व्यक्ति द्वारा आपराधिक भावना से किसी को जबरदस्ती रोका या बंदी बनाया जाता है तो वह अपराध है, मतलब यह की वह व्यक्ति जो इस कार्य को करता है, आईपीसी की धारा 342 के तहत परिभाषित आपराधिक दंड के लिए आरोपी बनाया जा सकता है। किसी को गलत इरादे से रोकना या परिरोध करना अकेले ही अपराध है पर अधिकतर मामलों में देखा गया है कि इस अपराध के साथ-साथ कई और अपराध भी जुड़े रहते है। अधिकतर योन-उत्पीड़न, बलात्कार, जबरन वसूली, हत्या, मार-पिट के मामले भी इस अपराध के साथ जोड़े जाते है।
अगर धारा 342 के आरोपी पर आरोप सिद्ध हो जाए तो उसे एक वर्ष तक का कारावास या जुर्माना या दोनों दंड के रूप में भुगतने पड़ सकते है। यह धारा संज्ञेय है और जमानती है।
सुचना का एक माध्यम है समाचार, सामाज में जब भी कोई घटना घटती है तो उसकी जानकारी अधिकतर समाचारों से ही मिलती है इसलिए हम यहां सिर्फ धारा 342 से संबंधित समाचार प्रस्तुत कर रहे है जिससे आप अनुमान लगा सकें कि किन-किन मामलों और परिस्थितियों में यह धारा प्रभावी होती है।

निजी स्कूल ने पार की सारी हदें, फीस न देने पर स्टूडेंट को बना लिया बंधक

Daily Hunt - Tuesday, 11 Apr 2017, 9.11 am
गुजरात के सूरत शहर में डुमास रोड, उमरा में पी आर खांटीवाला स्कूल के जूनियर केजी स्कूल ने फीस जमा न करने के कारण बच्चे को घर नहीं भेजा और कथित तौर पर करीब ढाई घंटे तक बंधक बना कर रखा। छात्र के पिता की शिकायत के बाद प्रशासन स्वरा जाँच के आदेश दे दिए गए और इस संबंध में स्कूल की क्लास टीचर और महिला प्रधानाध्यापक के खिलाफ उमरा थाने में भारतीय दंड संहिता की धारा 342, 114 तथा बच्चों के प्रति अपराध संबंधी ज्युवेनाइल जस्टिस एक्ट के तहत भी मामला दर्ज किया गया।

दुष्कर्म की नीयत से बंदी बनाने के दोषी काे 3 वर्ष कैद, 10 हजार जुर्माना भी

Bhaskar News Network | Last Modified - Dec 20, 2017, 08:30 AM IST
एक महिला अपनी दो नाबालिग बेटियों को घर पर छोड़कर मजदूरी करने गई। इस दौरान उसे किसी ने बताया कि उसकी छोटी बेटी घर से लापता है। तलाश करने पर उसके पड़ोसी भैरू लाल नायक जमना देवी ने प्रेम लाल के घर जाकर देखा तो एक कोने में बालिका बेहोश पड़ी थी। होश में आने पर बच्ची ने बताया कि वह प्रेम लाल के घर के बाहर से निकल रही थी। इस दौरान प्रेम लाल ने उसे जबरन घर में घसीटकर दरवाजा बंद कर दिया और दुष्कर्म करने का प्रयास किया। वह बचाव के लिए दरवाजे की तरफ भागी थी फिर दरवाजे से सिर टकरा जाने पर बेहोश हो गई थी। 14 नवंबर 2015 को पूलां निवासी इस श्रमिक महिला ने अंबा माता थाने में इस घटना की रिपोर्ट दर्ज कराई। इस मामले में
पोक्सो एक्ट के विशिष्ट न्यायाधीश वीरेंद्र कुमार जसूजा की अदालत ने दोषी प्रेम लाल गमेती उर्फ प्रेम पुत्र लालू राम गमेती को पोक्सो एक्ट की धारा 8 के तहत तीन वर्ष की कैद पांच हजार जुर्माना और धारा 342 के तहत छह माह की कैद पांच हजार रुपए जुर्माना सुनाया।

Section 452 IPC in Hindi News - धारा 452 आईपीसी के समाचार

Section 452 IPC in Hindi News - धारा 452 आईपीसी के समाचार

"तुझे तेरे घर में घुस कर मारूंगा" यह वाक्य अधिक तर लोगो ने सुना होगा पर यह नहीं जानते होंगें कि हंसी मजाक में या फिल्मों में या गुस्से में कहे इस वाक्य का संबन्ध अपराध से है और यह अपराध भारतीय दण्ड संहिता की धारा 452 से संबंधित है। एक तो घर में घुसना, दूसरा मारना या बाधित करना या किसी भी प्रकार का उपहति करना, यह कृत्य एक ऐसा अपराध है जो अगर सिद्ध हो जाए तो आरोपी को सात वर्षों के लिए कारावास करवा सकता है। यदि कोई भी किसी के घर या अचल सम्पति की सीमा में मार पिट या बलपूर्वक बाधित करता है तो शिकायत होने पर पुलिस इस अपराध का संज्ञान ले सकती है और आरोपी को गिरफ्तार कर सकती है। गैर-जमानती धारा होने के कारण आरोपी की जमानत कोर्ट से ही हो पाएगी।
शायद, जोश या गुस्से में तो कोई भी ऐसा बोल सकता है कि "तेरे घर में घुसकर मरेंगे" पर ऐसा अपराध करने की हिम्मत कम ही करते है पर फिर भी बहुत से समाचार सुनने को मिलते है और समाचारों को पढ़ कर अपराध की गम्भीरता को समझा जा सकता है। हम यहाँ कुछ IPC की धारा 452 से संबंधित समाचार प्रस्तुत कर रहें है।

बहन को छेड़खानी से बचाने की कोशिश की तो भाई को पीटा, केरोसिन छिड़क कर लगा दी आग

जनसत्ता ऑनलाइन
25 सितम्बर 2016, लखनऊ, उत्तर प्रदेश - जनसत्ता ऑनलाइन में छपे एक समाचार के अनुसार यूपी के शाहजहांपुर के सौपरी गांव में कुछ लोग एक घर के बहार शराब पीकर गाली गलोच कर रहे थे उस समय उस घर में भाई और बहन थे। भाई ने उन लोगों से उनके व्यवहार को लेकर आपत्ति जताई जिस पर वे लोग उस घर में घुस कर उस लड़के की बहन से बद्तमीज़ी करने लगे, शोर होने से वहां पड़ोसी आ गए तो वे लोग भाग गए। शुक्रवार सुबह जब लड़का अपने घर से निकल रहा था, उसी दौरान घात लगाकर इंतजार कर रहे आरोपियों ने उस पर (पीड़ित) मिट्टी का तेल छिड़क कर आग के हवाले कर दिया। प्रत्यक्षदर्शियों ने आग बुझाई और लड़के को अस्पताल में भर्ती कराया।
पुलिस ने इस मामले में धारा 307 (हत्या करने की कोशिश) और धारा 452 (घर में अनाधिकार प्रवेश करके चोट पहुंचाने और मारपीट करने) के तहत मामला दर्ज किया है।

बीएडी की छात्रा को मारपीट कर अधमरा किया, तीन हड्डी भी तोड़ी

लाइव हिन्दुस्तान, मेरठ
शास्त्रीनगर शेरगढ़ी की रहने वाली युवती बीडीएस कालेज से बीएड कर रही है। छात्रा के पड़ोस में देवेंद्र का मकान है। जिसने दीपक और उसकी पत्नी कोमल को किराए पर दे रखा है। छात्रा ने सोमवार को दीपक से घर के बाहर से साइकिल हटाने के लिए कहा था। जिसके बाद दीपक ने अपनी पत्नी कोमल, मकान मालिक देवेंद्र और उसकी पत्नी अंजलि और बेटी मानसी ने मिलकर छात्रा की जमकर पिटाई कर दी थी। दीपक ने तो कपड़े फाड़कर छेड़छाड़ और अश्लीलता भी की । छात्रा को पीट-पीटकर अधमरा कर दिया । छात्रा के हाथ की तीन हड्डी भी टूट गई। जिसको उपचार के लिए मेडिकल में भर्ती कराया गया। पुलिस ने इस मामले में मामूली धाराओं में 452, 325 धारा में मुकदमा कायम कर लिया था।

सिनेमाहॉल के कैबिन में मैनेजर पर कातिलाना हमला मारपीट मामले में दो लोगों को अदालत ने दोषी करार दिया...

Bhaskar News Network | Last Modified - Oct 15, 2017,
सिनेमाहॉल के कैबिन में मैनेजर पर कातिलाना हमला मारपीट मामले में दो लोगों को अदालत ने दोषी करार दिया है। अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट महेंद्र प्रताप बेनीवाल ने मामले में आरोपी चंदन पुत्र मोहनलाल वाल्मीकि हनी पुत्र प्रहलाद वाल्मीकि निवासी वार्ड नंबर 24 कैबिन दो साल कैद और सात सौ रुपए जुर्माना राशि से दंडित किया है। लोक अभियोजन अधिकारी राजेश पारीक ने बताया कि पुलिस थाना रायसिंहनगर में 3 नवंबर 2016 को कोस्मों सिनेमा के मैनेजर राजेश हांडा ने इस संबंध में पुलिस थाना में मामला दर्ज करवाया था। घटना के दिन राजेश हांडा अपने कार्यालय के कैबिन में बैठा था। इस बीच आरोपी चंदन पुत्र मोहनलाल वाल्मीकि हनी पुत्र प्रहलाद वाल्मीकि निवासी जबरन उसके कार्यालय में घुस गए। लाठियों कुल्हाड़ी से उस पर हमला कर दिया। मारपीट कर चोंटे मारी। इससे पहले आरोपियों ने गेट कीपर अमनदीप के साथ भी मारपीट की। एसीजेएम ने मामले की सुनाई के बाद दोनों आरोपियों को दोषी करार देते हुए धारा 452 में दो-दो साल की कारावास पांच-पांच सौ रुपये जुर्माना, धारा 323/34 में छह-छह माह के कारावास दो-दो सौ रुपए जुर्माने से दंडित किया।

Hospital Recruitments Free Job Alerts - Hindi

Hospital Recruitments Free Job Alerts - Hindi

संजय गांधी मेमोरियल अस्पताल, नई दिल्ली - Sanjay Gandhi Memorial Hospital, New Delhi ने जूनियर रेजिडेंट डॉक्टर के 72 रिक्त पदों की भर्ती के लिए अधिसूचना जारी की है। जूनियर रेजिडेंट डॉक्टरों की यह भर्ती नियमित आधार पर होगी। कुल आरक्षित पद इस तरह है UR:38, SC:10, ST:5, OBC:19 और कुल पद 72 होंगें और इन पदों के इलावा दो पद नियम अनुसार विकलांग प्रार्थियों के लिए सुरक्षित रखें गए है। साक्षात्कार की तिथि 23 जनवरी 2018 10 बजे प्रातः।
शैक्षणिक योग्यता: अभ्यर्थी के पास MBBS डिग्री के साथ-साथ उसका दिल्ली मेडिकल कौंसिल में पंजीकरण भी होना चाहिए।
वेतनमान: रूपए 56100/- अन्य भत्तों के साथ जो मान्य है।
आयु: समान्य वर्ग के लिए 30 वर्ष, SC/ST के लिए ३५ वर्ष और OBC के लिए 33 वर्ष।
विस्तृत जानकारी के लिए अधिसूचना देंखें।
लोक नायक हॉस्पिटल (Lok Nayak Hospital), नई दिल्ली द्वारा 29 दिसम्बर 2017 को जूनियर रेजिडेंट डॉक्टर के कुल 201 रिक्त पदों की भर्ती के लिए एक अधिसूचना जारी की गई है। यह भर्तियां पूर्णरूप से अनुबंध पर आधारित होंगी, जिसके अनुसार चुने गए डॉक्टर की नियुक्ति पहले छह माह के लिए अनुबंधित होगी जोकि एक वर्ष तक बढ़ाया जा सकेगा।
Total no.of sanction postUROBCSCST
201102543015
शैक्षणिक योग्यता: उम्मीदवार के पास किसी मान्यता प्राप्त संस्थान से एमबीबीएस की डिग्री होनी चाहिए और उसका किसी सरकारी हस्पताल में एक वर्ष का अनुभव होना चाहिए।
आयु सीमा: 31 दिसम्बर 2017 तक जनरल कोटा के लिए 30 वर्ष, एससी/एसटी के लिए 35 वर्ष और ओबीसी कैटेगरी उम्मीदवार के लिए 33 वर्ष रखी गई है।
वेतनमान: बेसिक रुपए 56100/ और दूसरे स्वीकार्य भत्ते। योग्य उम्मीदवारों से अनुरोध है कि वे विस्तृत जानकारी के लिए कृपया आधिकारिक अधिसूचना देखें। यदि आपको हमारा यह प्रयास पसंद आया है तो कृपया इस ब्लॉग को शेयर करें आपकी अति कृपा होगी।
निरन्तर अपडेट पाने के लिए ईमेल द्वारा सब्सक्राइब करें। Free Subscribe to India Helpline by Email
आधिकारिक अधिसूचना
डा. बाबा साहेब आंबेडकर हॉस्पिटल (Dr.BABA SAHEB AMBEDKAR HOSPITAL) रोहिणी, दिल्ली ने 103 सीनियर रेजिडेंट डॉक्टर और 87 युनिअर रेजिडेंट डॉक्टर के रिक्त पदों की भर्ती के लिए अधिसूचना जारी की है। इन पदों के लिए साक्षात्कार द्वारा भर्तियां की जाएगीं, जिसके लिए अभ्यर्थी को डॉ.बीएसए हॉस्पिटल के मेडिकल डायरेक्टर के समक्ष साक्षात्कार के दिन प्रातः 9.30am से 11.30am बजे अपना पंजीकरण करा सकतें है। 11.30am के बाद कोई पंजीकरण नहीं होगा। सीनियर रेजिडेंट डॉक्टर के पद का साक्षात्कार 10 जनवरी 2018 से 12 जनवरी 2018 तक होगा और जूनियर रेजिडेंट डॉक्टर के पद का साक्षात्कार 15 जनवरी 2018 और 16 जनवरी 2018 को होगा। विस्तृत जानकारी के लिए नोटिस देंखें।
शैक्षणिक योग्यता : एमबीबीएस/पोस्ट ग्रेजुएट डिग्री और आयु सीमा : जूनियर रेजिडेंट के लिए 30 वर्ष और सीनियर रेजिडेंट के लिए 40 वर्ष की है, एस सी /एस टी और ओबीसी के लिए छूट नियमों के अनुसार है।
योग्य उम्मीदवारों से अनुरोध है कि वे विस्तृत जानकारी के लिए कृपया आधिकारिक अधिसूचना देखें। यदि आपको हमारा यह प्रयास पसंद आया है तो कृपया इस ब्लॉग को शेयर करें आपकी अति कृपा होगी।
निरन्तर अपडेट पाने के लिए ईमेल द्वारा सब्सक्राइब करें। Free Subscribe to India Helpline by Email
आधिकारिक अधिसूचना
आवेदन पत्र

Army and Police Recruitments Free Job Alerts Hindi

Army and Police Recruitments Free Job Alerts Hindi

दिल्ली पुलिस (Delhi Police) द्वारा मल्टी-टास्किंग स्टाफ (सिविलियन) की विभिन्न ट्रेंडों के सीधी भर्ती परीक्षा के लिए भारतीय नागरिकों (पुरुष एवं महिलाएं) से आवेदन आमंत्रित किए है। आवेदन दिनांक 17 दिसम्बर 2017 से 16 जनवरी 2018 तक आधिकारिक वेबसाइट पर किए जा सकेंगें। वो उम्मीदवार, देश के किसी भी हिस्से से आवेदन कर सकते है जो अधिसूचना में दी गई शर्तो को पूरा करते है। आगे कुल पदों के साथ तालिका दी गई है।
Sl Noपदकुल पदयू आरओबीसीएससीएसटीएक्स एस एम्पी डब्लू डी
1रसोईया 25312710207172508
2जल वाहक5427205020502
3सफाई कर्मचारी 237119625512407
4मोची140704-03101-
5धोबी68342302090702
6दर्जी160904010202-
7दफ्तरी03010101--
8माली1608060202-
9नाई39220407060401
10बढ़ई07502----
इन पदों के लिए शैक्षणिक योग्यता मैरिक्युलेशन (दसवीं पास )या समकक्ष या किसी सरकारी मान्यता प्राप्त संस्थान से ट्रेड में आईटीआई होनी चाहिए।
आयु सीमा: 16 जनवरी 2018 को आयु सीमा 18 से 27 वर्ष जनरल के लिए, 18 से 30 वर्ष ओबीसी के लिए और 18 से 32 वर्ष अनुसूचित जाति व जनजाति के लिए। कृपया आयु में छूट तथा अधिक जानकारी के लिए आधिकारिक अधिसूचना देखें।
वेतनमान: लेवल (1) - रुपए 18,000 - 56,900 /- और लेवल (2) - रुपए 19,900 - 63,200/-
इन भर्तियों के आवेदन, परीक्षा आदि की विस्तृत जानकारी के लिए नीचे उपलब्ध कराएं गए लिंक को क्लिक करें।
आधिकारिक अधिसूचना
ऑनलाइन आवेदन करें

Get All The Latest Updates Delivered Straight Into Your Inbox For Free!

Powered by FeedBurner

Popular Posts